एम्बुलेंस सा हो गया है ये जिस्म,
सारा दिन घायल दिल को लिये फिरता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *