आत्म हत्याएें दो तरह की होती हैं—

पहली ( तेज और आसान )
गले में रस्सी डालो और पंखे से लटक जाओ|

दूसरी ( धीमी और दर्दनाक )
गले में वरमाला डालो और जिन्दगी भर लटके रहो |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *