एक पागलखाने में एक डॉक्टर सुबह सुबह मरीजों के चैकअप के लिए निकल पड़ा उसने देखा संता ऐसे दिखा रहा है कि वह लकड़ियाँ काटने का काम कर रहा है और बंता सीलिंग के साथ उल्टा लटका हुआ है!

डॉक्टर ने पूछा अरे संता क्या कर रहे हो?

संता ने कहा दिखाई नहीं देता लकड़ियाँ काट रहा हूँ!

डॉक्टर ने संता से फिर पूछा और ये बंता क्या कर रहा है?

संता ने कहा ये तो पागल हो गया है ये समझ रहा है कि ये बल्ब है इसलिए उल्टा लटका है!

डॉक्टर ने उल्टे लटके हुए बंता को देखा तो उसका चेहरा पूरा लाल हो गया था डॉक्टर ने संता से कहा अरे, ये तुम्हारा दोस्त है इस से पहले कि इसके साथ कुछ गलत हो तुम्हें इसे नीचे उतारना चाहिए!

संता फिर में अँधेरे में काम कैसे करूँगा?

सान्ता पहेली बार ट्रेन में सफर करने वाला था,
तब घोषणा हुई – “बिना टिकीट सफर करनेवाले यात्री होशियार….”
घोषणा हो ही रही थी की सान्ता बोला – “अरे वाह ! बिना टिकीट सफर करनेवाले यात्री होशियार और हमने टिकीट ली तो हम बेवकूफ”

सान्ता – “इन्सान को जिन्दगी में कोई भी प्रोब्लेम हो तो कहा जाना चाहिए ?”
.
बन्ता – “किसान के पास…”
.
सान्ता – “क्यों ?”
.
बन्ता – “क्यों कि उसके पास ‘हल’ होता है”

Santa को एक बहोत ही Difficult सवाल पूछा गया
सबसे पहले क्या आया “मूर्गी” या “अंडा” ?
.
Santa – “यार, सीधी सी बात है, जिसका Order पहले दोगे वो आयेगा ?”

बन्ता को एक आदमी ने पूछा
What is Ford ?
बन्ता – “गाडी है ।”
आदमी – “What is Oxford ?”
बन्ता – “बैलगाडी”

प्रश्न – “सान्ता क्यो दरवाजे के बहार जाकर Exam दे रहा था”
.
उत्तर – “क्यो कि वह Entrance Exam दे रहा था”

मेंढ़क और सान्ता में बहस छिडी
मेढ़क – “तुम्हारे में दिमाग नहीं है”
सान्ता – “हैं”
मेढ़क – “नहीं है”
सान्ता – “है”
उतने में मेढ़क पानी में कूद गया…
सान्ता – “ले अब, उसमें Suicide करने वाली क्या बात थी”

Banta : एक साधु से बोला “बाबा मेरी पत्नी मुझे बहोत हैरान करती है, कोई उपाय बताओ
.
साधु : बेटा, उपाय होता तो मैं साधु क्यों बनता !

Santa अपने बेटे का Admission करवाने स्कुल में गया,
तब उसके बेटे को पूछा गया – What is your mother tongue ?”
.
उसके बेटे ने Santa से पूछा, तो Santa ने जवाब दिया
“बोल दे Very Long”

Santa एक Nurse के प्यार में गिरा,
.
बहोत सोचने के बाद उसने नर्स को प्रपोज किया,
और कहा – “I Love you Sister”

Page 60 of 461« First...2040...596061...80100...Last »