हर रिश्ते में
विश्वास रहने दो;
जुबान पर हर वक़्त
मिठास रहने दो;
यही तो अंदाज़ है
जिंदगी जीने का;
न खुद रहो उदास,
न दूसरों को रहने दो

❤❤दूर जाने से पहले मेरी नस-नस निचोड़ लेना,

❤❤कतरे- कतरे में अगर तू न मिले तो बेशक़ मुझे छोड़ देना.

Pyar me Dhokha Khaye Hue
Insaan ne Khuda Se Kaha!
YA Khuda Tu Ishq Na Karna..
Varna Khub Pachtayga
Hum to Mar k TERE Pas Aayenge..
Tu Kiske Paas Jayega..

कभी रो के मुस्कुराए, कभी मुस्कुरा के रोए,
जब भी तेरी याद आई तुझे भुला के रोए,
एक तेरा ही तो नाम था जिसे हज़ार बार लिखा,
जितना लिख के खुश हुए उस से ज़यादा मिटा के रोए.

कहीं कोयला तो कहीं खदान बिक रहा है.
गोल गुम्बद में हिंदुस्तान बिक रहा है..
यूँ तो कागज गल जाता है पानी की एक बूँद से.
चंद कागज़ के नोटों में मगर ईमान बिक रहा है..
गुलामी का दौर चला गया कैसे कहें जनाब.
कहीं इंसानियत तो कहीं इंसान बिक रहा है..
आज की नयी नस्लें होश में रहती कब हैं..
कैंटीन में चाय के साथ नशे का सामान बिक रहा है..
आधुनिकता और कितना नंगा करेगी हमको..
बेटे के फ्लैट के लिए बाप का मकान बिक रहा है.
सीता को जन्म देने वाली धरती को क्या हो गया..
राम के देश में चाइना का हनुमान बिक रहा है..

Page 1 of 10123...10...Last »